AYURVEDA, HOMEOPATH AND ALLOPAITH

किसी भी रोग के इलाज की कई सारी विधाएँ आज पूरे विश्वा में मौजूद हैं !.प्रमुख रूप से निम्न चिकित्सा विधि हैं.

अलोपैथ
होम्योपैथ
आयुर्वेद
यूनानी
एक्यूपंक्चर

इसके अलवन भारतवर्स मैं कुछ परंपरागत चिकित्सा पढ़ती मौजूद हैं जिसमें कुछ प्रमुख निम्न हैं…..आज पूरे विश्व में यह विधा सिर्फ़ भारत में मौजूद हैं….

मंत्र विज्ञान
तंतरा विज्ञान
सूर्या चिकित्सा विधि
मिट्टी चिकित्सा विधि

जैसा की आप सभी लोग जानते हैं की आज की तारीख में लोग तुरंत इलाज और रोग से निदान चाहते हैं . इसलिए आज की तारीख में लोग तुरंत लाभ के लिए अलोपैथ की तरफ़ झुकाव ज़्यादा हैं . जबकि एलोपैथ के कुछ दूरगामी दोष हैं …एलोपैथ में रोगी के रोग का लचन डब जाता हैं और रोगी आराम महशूष करता हैं जबकि उसके शरीर में अन्य कई रोग मौजूद होने लगते हैं . भविष्या में उसके शरीरी में अन्या रोग उत्पन्न होने की संभावना ज़्यादा होती हैं . फिर भी तुरंत आराम के कारण एलोपैथ का प्रचलन ज़्यादा हैं .

हम सभी को कुछ समय बतो की जानकारी होना आवश्यक हैं ताकि हम अपने शरीर में होने वालीए रोग का इलाज तुरंत कर सके .
चिकित्सा का मूल मंत्र यह हैं की हमारे शरीर में जिस औषधि से जो रोग होता हैं उसी औषधि के खाने से वह रोग सही होता हैं .

Last Updated on: May 23rd, 2018 at 4:38 pm, by admin


Leave a Reply